April 20, 2024
एसी में बैठना नुकसानदायक

एसी में बैठना नुकसानदायक

एसी में बैठना नुकसानदायक निरंतर एसी में बैठने से हो सकती हैं बीमारियां

वर्षा झा (लेखिका)

वर्तमान परिवेश में अक्सर देखा गया है कि हर व्यक्ति पूरे आराम के साथ जिंदगी बिताना पसंद करता है, व्यक्ति यह चाहता है कि साल के किसी भी मौसम में उसे प्रकृति का कष्ट न उठाना पड़े तकनीकि की देन से उसे हर मौसम में अनुकूल स्थिति का मजा मिलता रहता है। आप भी उन लोगों में से हैं जो एसी वाले कार्यालय में काम करके खुद को खुशनसीब समझते हैं? क्या आप जब घर में होते हैं तो उस वक्त भी एसी चालू रहता है और आप ठीक उसके सामने बैठना ही पसंद करते हैं?

एसी में बैठना नुकसानदायक आदत के बारे में एकबार और सोचने की जरूरत है

अगर आप भी ऐसा करते हैं तो आपको जानकारी दें कि ऐसा करना आपके स्वास्थ्य के लिये नुकसानदायक हो सकता है और आपको अपनी इस आदत के बारे में एकबार और सोचने की जरूरत है. आदत को समय अनुसार परिवर्तन कर लिया जाये तो नुकसान से बचा जा सकता है. एक जानकारी के मुताबिक पाया गया है कि लोग एसी को वीआईपी लाइफस्टाइल से जोड़कर देखते हैं लेकिन सच्चाई कुछ और ही है कि एसी में निरंतर बैठे रहना सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है. बीते समयकाल के परिवेश अनुसार एसी का प्रयोग अचानक से बढ़ गया है. गर्मियों के मौसम में प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से धरती का तापमान इतना अधिक हो जाता है कि एसी के बिना काम भी नहीं चलता.

टेंपरेचर के बदलाव का सबसे बुरा असर हमारे इम्यून सिस्टम पर पड़ता

ऐसे में कुछ लोग अफोर्ड कर पाते हैं वह एसी लगवाने में जरा भी देर नहीं करते हैं. रही बात कार्यालयों की तो आज के समय में ज्यादातर कार्यालयों में एसी लगा ही होता है. यह लोगों की मूलभूत जरूरत बन चुकी है. लेकिन सोचने वाली बात यह है कि एक आर्टिफिशियल टेंपरेचर में बहुत देर तक रहना किस हद तक खतरनाक हो सकता है, इस ओर कभी भी हमारा ध्यान ही नहीं जाता है. इस टेंपरेचर के बदलाव का सबसे बुरा असर हमारे इम्यून सिस्टम पर पड़ता है. जो स्वास्थ्य के लिये बहुत ही नुकसानदायक है.

एसी में रहने वालों के लिये ये हेल्थ समस्याएं हो सकती हैं

1. थकान होना

जैसे की आप एसी को बहुत स्लो करके रात्रि में सोते हैं या उसके सामने बैठते हैं तो आपको हर समय कमजोरी और थकान रहने लगेगी. और यह समस्या बढ़ती जायेगी.

2. साइनस की प्रॉब्लम

शोध के अनुसार बताया गया कि प्रोफेशनल्स की मानें तो जो लोग एसी में चार या उससे अधिक घंटे रहते हैं, उनमें साइनस इंफेक्शन होने की आशंका बहुत बढ़ जाती है. दरअसल, बहुत देर तक ठंड में रहने से मांसपेशियां सख्त हो जाती हैं.

3. आंखों का ड्राई होना

आप जब एसी में घंटों बिताने वालों में से हैं तो यह समस्या सबसे ज्यादा कॉमन है. एसी में बैठने से आंखों ड्राई हो जाती हैं. एसी में बैठने का ये असर स्किन पर भी नजर आता है. स्किन रूखी-रूखी होने लगती है

4. वायरल इंफेक्शन होना

आप जब लंबे समय तक एसी में बैठे हैं तो, फ्रेश एयर सर्कुलेट नहीं हो पाती है. ऐसे में फ्लू, कॉमन कोल्ड जैसी बीमारियां होने का खतरा बहुत बढ़ जाता है. जो शरीर के लिये बहुत ही नुकसानदायक है.

5. एलर्जी होना

अक्सर देखा गया है कि लोग एसी को समय टू समय साफ करना भूल जाते हैं, जिससे एसी की ठंडी हवा के साथ ही डस्ट पार्टिकल भी हवा में मिल जाते हैं. सांस लेने के दौरान यह डस्ट पार्टकिल शरीर में प्रवेश कर जाते हैं, जिससे इम्यून सिस्टम पर असर पड़ता है.


en.wikipedia.org

बादशाह का बेटा बेगुनाह

LEN NEWS

नमस्कार दोस्तो ! मैंने यह बेवसाइट उन सभी दोस्तों के लिए बनाई है जो हिंदी राष्ट्रीय खबरें, उत्तर प्रदेश की खबरें, बुन्देलखण्ड की खबरें, ललितपुर की खबरें, राजनीति, विदेश की खबरें, मनोरंजन, खेल, मेरी आप सबसे एक गुजारिश है कि आप सब मेरे पोस्ट को शेयर करें, कमेन्ट करें और मेरी वेबसाइट की सदस्यता लें, आगे के अपडेट के लिए इस बेवसाइट में बने रहें, धन्यवाद। Arjun Jha Journalist management director Live Express News

View all posts by LEN NEWS →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime