April 24, 2024
पुरानी पेंशन की मांग को लेकर शिक्षकों ने बीआरसी कार्यालय पर किया धरना प्रदर्शन

पुरानी पेंशन की मांग को लेकर शिक्षकों ने बीआरसी कार्यालय पर किया धरना प्रदर्शन

ललितपुर। अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ नई दिल्ली के बैनर तले उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश के तत्वावधान एवं जिलाध्यक्ष विनोद निरंजन एवं जिलामंत्री शकुंतला कुशवाहा के निर्देशन में जिला कार्यकारिणी के साथ-साथ समस्त ब्लॉक इकाईयों के पदाधिकारियों,शिक्षक, शिक्षिकाओं ने ब्लॉक मुख्यालय स्थित बीआरसी कार्यालय पर एकत्रित होकर प्रमुख मांग पुरानी पेंशन बहाली को लेकर धरना प्रदर्शन किया एवं खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से माननीय प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा। इसी क्रम में विकास खंड बार की ब्लॉक कार्यकारिणी सहित सैकडों शिक्षक, शिक्षिकाओं ने खंड शिक्षा अधिकारी बार योगेंद्र नाथ को ज्ञापन सौंपकर शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों की लंबित समस्याओं के निस्तारण की मांग की। इस दौरान उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ब्लॉक बार इकाई के अध्यक्ष बृजेश चौरसिया ने कहा कि प्रदेशीय आह्वान पर प्रदेश के समस्त विकास खंडों में धरना प्रदर्शन आयोजित करके शिक्षक व कर्मचारियों की प्रमुख मांग पुरानी पेंशन बहाली को लेकर शिक्षक एकजुट हुए हैं। बुढापे की लाठी-पुरानी पेंशन की मांग कर्मचारियों की जायज है। संगठन ने राष्ट्रीय स्तर पर शिक्षकों की मांग को उठाया है। जिससे सरकार शिक्षकों की मांग पुरानी पेंशन को लागू करे। महामंत्री जितेंद्र जैन ने कहा कि शिक्षक व कर्मचारियों की लम्बित मांगों को शीघ्र दूर किया जाए। जिससे शिक्षक उनका लाभ उठा सकें। जिला कोषाध्यक्ष अनिल त्रिपाठी ने कहा कि 01 अप्रैल 2004 के बाद नियुक्त शिक्षक कर्मचारी व अधिकारियों को बुढापे में दी जाने वाली पुरानी पेंशन को समाप्त कर दिया गया है। जिससे सम्पूर्ण भारत के लाखों युवा शिक्षक व कर्मचारियों में भारी निराशा है। जबकि भारत के तीन राज्य पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा व केरल में आज भी पुरानी पेंशन दी जा रही है, एक देश में दो विधान,यह कैसा न्याय है। जिला मंत्री रामरक्षपाल सिंह ने कहा कि अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए सभी शिक्षक कर्मचारियों को संघठित होना होगा। जिलामंत्री संजीव टडैया ने कहा कि जब एक दिन के सांसद विधायक बनने वाले जनप्रतिनिधि को पेंशन पाने का अधिकार हैं तो 30-35 वर्षो तक अपनी सेवाएं देने वाले शिक्षक कर्मचारियों को क्यों नहीं हैं। वरिष्ठ ब्लॉक उपाध्यक्ष गिरीश साहू ने कहा कि न्यू पेंशन स्कीम शिक्षक व कर्मचारियों के साथ छलावा है। संचालन ब्लॉक मंत्री जितेंद्र जैन ने किया।आभार ब्लॉक कोषाध्यक्ष मुकेश बाबू नरवरिया ने जताया। इस दौरान ब्लॉक अध्यक्ष बृजेश चौरसिया,मंत्री जितेंद्र जैन, कोषाध्यक्ष मुकेशबाबू नरवरिया, जिला कोषाध्यक्ष अनिल त्रिपाठी, जिला संयुक्त मंत्री रामरक्षपाल सिंह, जिला मंत्री संजीव टडैया, वरिष्ठ ब्लॉक उपाध्यक्ष गिरीश साहू, संतोष वर्मा,ब्लॉक उपाध्यक्ष देवीशंकर कुशवाहा, एआरपी जयकुमार तिवारी, प्रदीप सोनी, संजय सोनी, दीपक जैन, दीपक सिंघई, संजय कुशवाहा, महेंद्र सिंह, रामसेवक, सौरभ गुप्ता, महिला इकाई उपाध्यक्ष अंजना नामदेव, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गिरीश साहू, संगठन मंत्री रमाकांत चौरसिया, संयुक्त मंत्री अनुराधा साहू, राजेश राजपूत, मुकेश जैन, मुकेश कुशवाहा, नरेंद्र सिंह चौहान,संगठन मंत्री महेश प्रसाद निरंजन,बृजेश कुमार झां, उदयभान सिंह लोधी,अखिलेश अवस्थी, दिनेश वर्मा, अखिलेश कुमार,नासिर खां, अरविंद सिंह,मौसम जैन, शिल्पी पटैरिया, वर्षा यादव,नेहा सिंह सेंगर, जयंती देवी,बबीता राजपूत,विनीता राजपूत,शोभना,शिवानी सिंह,शैलजा यादव,अलका वर्मा,नेहा कुमारी, नेहा खरे,सहदेव कुमार,महेंद्र सिंह यादव,अवनीश,शैलेंद्र राजा बुंदेला, रविंद्र सिंह परमार, आशीष जैन,रीतेश यादव,धर्मेंद्र कुमार शिवहरे,अभिषेक अहिरवार,जयहिंद सिंह, जमुना प्रसाद, प्रशांत,नितिन कुमार,निशांत मडवैया, आशीष साहू, महेश नामदेव,अनुराग श्रीवास्तव, राघवेंद्र सिंह राजपूत,किरण नागर, रूपाली साहू,प्रताप सिंह निरंजन, हरिओम विलगैया, सुमित कुमार,राजेश चौबे सहित सैकडों शिक्षक,शिक्षिकाएं मौजूद रहे।

यह हैं शिक्षकों की प्रमुख मांगें

पुरानी पेंशन योजना तत्काल बहाल की जाए। सभी राज्यों में कार्यरत संविदा शिक्षकों जैसे शिक्षामित्रों,शिक्षाकर्मियों,अनुदेशकों, नियोजित शिक्षकों आदि का स्थायीकरण किया जाए। राष्ट्रीय शिक्षा नीति सन् 2020 से शिक्षक विरोधी प्रावधानों जैसे स्कूल परिसरों,स्वयंसेवी शिक्षकों की नियुक्ति,आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की बजाय पूर्व प्राथमिक कक्षाओं के लिए नए प्रशिक्षित शिक्षकों की नियुक्ति की जाए। सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों को पूरे देश में समान रूप से लागू किया जाए।

जनपदीय एवं ब्लॉक स्तरीय मांगपत्र

आकस्मिक अवकाश को ऑनलाइन के अलावा ऑफलाइन भी स्वीकृत किया जाए। सीसीएल, चिकित्सकीय, मातृत्व अवकाश निर्धारित समय अवधि में स्वीकृत किये जाए। विद्यालयों का निरीक्षण सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाते हुए किया जाए। शिक्षकों को चयन एवं प्रोन्नत वेतनमान ससमय प्रदान किया जाए। नवनियुक्त शिक्षकों का अवशेष वेतन का अविलंब भुगतान किया जाए। एआरपी द्वारा अनुश्रवण के पूर्व संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक को सूचित किया जाए। खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर कार्यरत समस्त कर्मियों की सूची चस्पा कर उनको आवंटित कार्यों को प्रदर्शित किया जाए। ब्लॉक स्तर पर प्राप्त प्रार्थना पत्रों को सूचीबद्ध कर प्राप्ति देते हुए वरीयता क्रम में निस्तारण किया जाए। बीईओ संगठन के ब्लॉक स्तरीय पदाधिकारियों को मिलने के लिए लिखित रूप से समय निर्धारित करें। ब्लॉक स्तर से अध्यापकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों के वेतन,मानदेय संशोधन शासनादेश के अनुसार भेजें,जिससे माह की पहली तारीख को शिक्षकों को वेतन प्राप्त हो सके।

LEN NEWS

नमस्कार दोस्तो ! मैंने यह बेवसाइट उन सभी दोस्तों के लिए बनाई है जो हिंदी राष्ट्रीय खबरें, उत्तर प्रदेश की खबरें, बुन्देलखण्ड की खबरें, ललितपुर की खबरें, राजनीति, विदेश की खबरें, मनोरंजन, खेल, मेरी आप सबसे एक गुजारिश है कि आप सब मेरे पोस्ट को शेयर करें, कमेन्ट करें और मेरी वेबसाइट की सदस्यता लें, आगे के अपडेट के लिए इस बेवसाइट में बने रहें, धन्यवाद। Arjun Jha Journalist management director Live Express News

View all posts by LEN NEWS →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime